पारस चोपड़ा ने खड़ी की 70 करोड़ों की कंपनी Success Story of Paras Chopra

0
511
views

आज की हमारी Success Story एक BioTech से Engineering करने वाले एक ऐसे Student  की है. जिन्होंने अपनी Engineering की Success जॉब छोड़कर उसके लिए अपनी Start Up  करने का फैसला लिया. जिसका उन्हें बिल्कुल Experience नहीं था और वह आज 70 करोड रुपए से ज्यादा टर्नओवर के साथSuccesful  Business Man की लिस्ट में है.

भरोसा खुद पर रखो तो ताकत बन जाती है और दूसरों पर रखो तो कमजोरी बन जाती है|”

Paras Chopra की Success story/ Biography

Paras Chopra  ने जो अपने Life में Achieve  किया वह बिल्कुल आसान नहीं था. पंजाब में जन्मे Paras Chopra आगे  रहने वाले बच्चों में से एक थे , कंप्यूटर से पारस का परिचय बहुत छोटी Age में ही हो गया था. जब उसके पिता अपने काम के लिए कंप्यूटर इस्तेमाल करते थे .

तो उन्हें देखकर वह भी इसके प्रति आकर्षित हुआ और करीब 13 Year  की उम्र में जब दूसरे बच्चे कंप्यूटर पर Game खेला करते थे  तो  पारस चोपड़ा Programming करने लगा था .  अपनी स्कूली पढ़ाई पूरी होते तक पारस चोपड़ा Programming में Passionate  हो चुका  था . और फिर उसने Delhi College Of Engineering में Admision ले लिया और Subject  के रूप में Bio technology  का चुनाव किया .

लेकिन उसके इस फैसले से Parents खुश  नहीं थे  क्योंकि वह चाहते थे कि वह Computer  पढ़ें, Paras Chopra ने Mining और Analytics के प्रति अपना दिलचस्पी पैदा कर दी.

Paras Chopraको  यह आईडिया कैसे मिला ?Success Story

School के दिनों में एक बार उसे How To Start Up पर एक लेख पढ़ने का मौका मिला. जिसने उसे Start up करने  के लिए काफी  Motivate  किया और अपने इसी Attraction  के चलते Paras Chopra ने अपनी College  की पढ़ाई के साथ-साथ तीन चार अलग- अलग Start up  में भी अपना हाथ आजमाया.

  • 6 Morning Habits आपकी लाइफ बदल सकती है |

लेकिन एक Business Model के अभाव में यह Business में तब्दील नहीं हो पाए . 2008 में India  में अपनी Graduation पूरी की और उसके बाद Inspiring Mince में Engineering की जॉब करने लगे .लेकिन Start up की ख्वाइश अब भी उसके Mind  में थी.

करीब डेढ़ साल गुजारने के बाद Paras Chopra  ने अपनी Intrest  के Field  की एक List तैयार करना शुरू कर दिया और उसके बाद Marketing Optimization की थीम सामने आई और उसे अपनी Company Vingiify  का आईडिया मिला, लेकिन उसे इस Field का बिल्कुल  Experience नहीं था.मार्केटिंग में Experience के बिना Marketing Optimization के उतरना काफी जोखिम भरा फैसला था. लेकिन उसे खुद की  Confidence पर भरोसा था.  और उसने अपने साथी के साथ इस पर काम करना शुरू कर दिया. Paras Chopra को Google Analytics के लिए एक Plateform  तैयार करना था. ताकि कोई भी वेबसाइट ऑनर अपनी वेबसाइट को google पर आसानी से Optimization कर सके.

  • असफल होना कहीं सफल होने से ज्यादा जरूरी है |

8 महीने तक इस पर काम करने के बाद एक नई फीचर वाले प्रोडक्ट तैयार करने में कामयाब हो गया. और 2010 के Visual Optimizar  नाम की  Software को लांच किया. Paras Chopra की यह Company Vingify कुछ ही महीने में ही अच्छा  Business करने लगी. Paras Chopra ने जॉब छोड़कर अपना पूरा ध्यान इसी पर Focus करने का फैसला  किया. जनवरी 2010 तक कंपनी का टर्नओवर 20,00000 रुपए तक पहुंच गया ,जो आज करीब 70 करोड़ रुपए  Turn Over को पार कर चुका है,यह एक Paras Chopra की company के लिए एक बहुत बड़ी Achievement है.

मुझे उम्मीद है कि यह पोस्ट आपको अच्छा लगा होगा, इसे लाइक करना और दोस्तों के साथ शेयर करना ना भूले|  और आप हमें कमेंट बॉक्स में जरुर बताएं कि यह पोस्ट आपको कैसी लगी.